Home Blog UPPSC RO ARO Salary: यूपी में समीक्षा अधिकारी, असिस्टेंट समीक्षा अधिकारी की कितनी है सैलरी, क्या-क्या है सुविधाएं? जानें वर्किंग स्टाइल 

UPPSC RO ARO Salary: यूपी में समीक्षा अधिकारी, असिस्टेंट समीक्षा अधिकारी की कितनी है सैलरी, क्या-क्या है सुविधाएं? जानें वर्किंग स्टाइल 

0
UPPSC RO ARO Salary: यूपी में समीक्षा अधिकारी, असिस्टेंट समीक्षा अधिकारी की कितनी है सैलरी, क्या-क्या है सुविधाएं? जानें वर्किंग स्टाइल 

[ad_1]

UPPSC RO ARO Salary: यूपी सरकार (UP Government) में समीक्षा अधिकारी (RO) और असिस्टेंट समीक्षा अधिकारी बनने की ख्वाहिश हर किसी का होता है. लेकिन यह ख्वाहिश तभी पूरा हो सकता है, जब आप UPPSC RO ARO भर्ती परीक्षा को पास कर लेते हैं. इन पदों के लिए उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) हर साल परीक्षा आयोजित करता है. जिन उम्मीदवारों को चयन इन पदों के लिए होता है, उन्हें 7वें वेतन आयोग के अनुसार सैलरी दी जाती है. 7वें वेतन आयोग के लेवल 7 के तहत ARO का पे स्केल 44900 रुपये से 142400 रुपये प्रति माह है, जबकि लेवल 8 के तहत RO का पे स्केल 47600 रुपये से 151000 रुपये तक है. अगर आप भी इन पदों पर नौकरी (Sarkari Naukri) पाना चाहते हैं, तो इन बातों को ध्यान से जरूर पढ़ें.

UPPSC RO ARO की सैलरी
यूपीपीएससी द्वारा जिन उम्मीदवारों का चयन आरओ और एआरओ के लिए होता है, उन्हें सैलरी के साथ कई तरह की सुविधाएं भी मिलती है. आइए इसके बारे में नीचे विस्तार से जानते हैं.

रिक्रूटमेंट बॉडी उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC)
पद का नाम रिव्यू ऑफिसर (समीक्षा अधिकारी)
असिस्टेंट रिव्यू ऑफिसर (सहायक समीक्षा अधिकारी)
UPPSC RO ARO इन हैंड सैलरी समीक्षा अधिकारी: 47,600 रुपये – 1,51,000 रुपये प्रति माह
सहायक समीक्षा अधिकारी: 44,900 रुपये – 1,42,400 रुपये
लाभ एवं भत्ते महंगाई भत्ते, मकान किराया भत्ते, बोनस, आदि
जॉब लोकेशन उत्तर प्रदेश

UPPSC RO ARO की इन हैंड सैलरी
कटौतियों और भत्तों के बाद कर्मचारी के खाते में जमा किए गए वेतन को इन हैंड सैलरी कहा जाता है. इन हैंड सैलरी बेसिक पे के साथ-साथ महंगाई और अन्य भत्ते भी शामिल होते हैं. मासिक UPPSC सैलरी लगभग 65,000 रुपये से 70,000 रुपये के बीच होगा.

UPPSC RO ARO का लाभ और भत्ते
यूपीपीएससी आरओ एआरओ की सैलरी उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा निर्धारित की जाती है. कर्मचारियों को दिए जाने वाले सभी भत्ते उनके बेसिक पे पर निर्भर होते हैं. कुछ अनुलाभ और भत्ते नीचे सूचीबद्ध हैं
महंगाई भत्ता: महंगाई भत्ता एक कर्मचारी के आधार वेतन का एक अनुपात है, जिसका उपयोग कर्मचारियों पर मुद्रास्फीति के प्रभाव को कवर करने के लिए किया जाता है. डीए की रकम कर्मचारी के तय बेसिक से तय होती है.
मेडिकल फैसिलिटी: उन्हें उनके मेडिकल बिलों की कीमत पर मेडिकल फैसिलिटी प्रदान की जाती है. मेडिकल एड प्राप्त करने के लिए कर्मचारियों को अस्पताल के बिल और रसीदें दिखानी होंगी.
वाहन भत्ता: वाहन भत्ता उन कर्मचारियों को प्रदान किया जाने वाला राशि है, जिन्हें नौकरी के हिस्से के रूप में अपना वाहन चलाने की आवश्यकता होती है.
राशन मनी: कर्मचारियों द्वारा उनके किराने और भोजन के बिलों के लिए जारी किया गया राशि है. हालांकि, कर्मचारियों को इस भत्ते का दावा करने के लिए बिल पेश करना होगा.

यूपीपीएससी आरओ एआरओ जॉब प्रोफाइल
यूपीपीएससी आरओ और एआरओ के ड्यूटी और कामकाजी माहौल की व्यापक समझ रखने के लिए उम्मीदवारों को पहले से ही यूपीपीएससी आरओ एआरओ जॉब प्रोफाइल से परिचित होना चाहिए.
आरओ एआरओ आधिकारिक कागजात के रिकॉर्ड को बनाए रखने के साथ-साथ उन्हें प्रदान किए गए कागजात के रिकॉर्ड को क्लियर करने के लिए जिम्मेदार हैं.
अपने अधीनस्थों को कार्य सौंपना और उनसे अपडेट लेना
जब कोई अधीनस्थ उपलब्ध न हो तो टाइपिंग और क्लर्क कार्य अत्यावश्यक रूप से करवाना.
मांग पत्र और लंबित फाइलों का रिकॉर्ड बनाएं रखना

UPPSC RO ARO कैरियर ग्रोथ और प्रमोशन
यूपीपीएससी आरओ एआरओ के लिए चयनित उम्मीदवारों को उनके सेवा कार्यकाल में विभिन्न पदोन्नति मिलेगी. उम्मीदवार अपने परफॉर्मेंस, योग्यता और सीनियोरिटी लेवल के आधार पर प्रमोशन के लिए योग्य होंगे.

ये भी पढ़ें…
पिता घर-घर जाकर करते हैं इलेक्ट्रीशियन का काम, बेटा बना प्रदेश टॉपर
आईआईटी में पढ़ने के सपने को साकार करने का मौका, बस पूरी करनी है ये शर्तें

Tags: Government jobs, Govt Jobs, Jobs, Jobs in india, Jobs news, State Govt Jobs, UPPSC

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here