Home Blog Israel Used Sophisticated Arrow 3 Missile Interceptor Against Iran-backed Houthi Rebels Attack

Israel Used Sophisticated Arrow 3 Missile Interceptor Against Iran-backed Houthi Rebels Attack

0
Israel Used Sophisticated Arrow 3 Missile Interceptor Against Iran-backed Houthi Rebels Attack

[ad_1]

Israel-Hamas War: गाजा पट्टी में जारी जंग में युद्धविराम लागू करने के संयुक्त राष्ट्र के असफल प्रयासों के बीच इजरायल ने शुक्रवार (10 नंवबर) को पुष्टि की कि उसने ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों के खिलाफ अपने एरो 3 मिसाइल इंटरसेप्टर का इस्तेमाल किया था.  

इससे पहले इजरायली सेना ने गुरुवार (9 नवंबर) को घोषणा की थी कि उसके हाइपरसोनिक बैलिस्टिक मिसाइल इंटरसेप्टर ने लाल सागर से इजरायल की ओर आ रहे एक टारगेट को रोक कर उसे सफलतापूर्वक नष्ट कर दिया था.

इजरायल के रक्षा मंत्रालय ने सोशल मीडिया प्लेटफटर्म एक्स पर पोस्ट किया, “इजरायली एयर डिफेंस ने आज शाम सफलतापूर्वक एरो 3 इंटरसेप्टर लॉन्च किया, जिससे लाल सागर क्षेत्र में इजरायल की ओर लॉन्च किए गए टारगोट को प्रभावी ढंग से रोक दिया गया.

पहली बार एरो 3 इंटरसेप्टर का इस्तेमाल
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक एरो 3 इंटरसेप्टर के लॉन्च की घोषणा यमन में हूती विद्रोहियों की ओर से इजरायल पर बैलिस्टिक मिसाइलों की एक सीरीज लॉन्च करने के दावे के बाद की गई.
इजरायल डिफेंस फोर्स ने एक बयान में कहा कि एरो 3 को 2017 में तैनात किया गया था. तैनाती के बाद से यह पहला पहला ऑपरेशनल इंटरसेप्शन था.

क्या है एरो 3 इंटरसेप्टर?
एरो 3 इंटरसेप्टर दुनिया की सबसे एडवांस वायु और मिसाइल रक्षा प्रणालियों में से एक है. एरो 3 को विशेष रूप से लंबी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों को रोकने के लिए डिजाइन किया गया है. इस मिसाइल को इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज ने बनाया है. यह सिस्टम, इजरायली मिसाइल रक्षा संगठन और अमेरिकी मिसाइल रक्षा एजेंसी के बीच एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.

इसे ईरान के हमले के मद्देनजर खतरे को रोकने के लिए विकसित किया गया था. कथित तौर पर हाइपरसोनिक एरो 3,  एरो 2 की तुलना में ज्यादा स्पीड के साथ और अधिक ऊंचाई पर चलती है.

हूती विद्रोहियों ने इलियट हमले की जिम्मेदारी ली  
यमन के हूती विद्रोहियों ने इजरायल के इलियट स्थित सैन्य ठिकानों और सहित संवेदनशील क्षेत्रों को निशाना बनाकर किए गए बैलिस्टिक मिसाइलों से हमला करने की जिम्मेदारी ली. इस हमले को एरो 3 ने इंटरसेप्ट कर नाकाम बना दिया. 

इस बीच संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख वोल्कर तुर्क ने शुक्रवार को गाजा में इजरायल के विस्फोटक हथियारों के इस्तेमाल की जांच का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि फिलिस्तीनी क्षेत्र में इन हथियारों के अंधाधुंध इस्तेमाल से काफी नुकसान हो रहा है. हूती सैन्य प्रवक्ता याह्या सरी ने कहा कि उनके सशस्त्र बलों ने इजरायल के कई क्षेत्रों पर सीधे हमले का किए और बैलिस्टिक मिसाइलों की बौछार की.

यह भी पढ़ें- Israel Hamas War: गाजा में अल-कुद्स अस्पताल से महज 20 मीटर दूर इजरायली टैंक, मरने वालों का आंकड़ा 12 हजार पार | बड़ी बातें

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here