Home Blog BJP MP Shantanu Thakur Says West Bengal Government Will Not Last Beyond Five Months TMC Hits Back

BJP MP Shantanu Thakur Says West Bengal Government Will Not Last Beyond Five Months TMC Hits Back

0
BJP MP Shantanu Thakur Says West Bengal Government Will Not Last Beyond Five Months TMC Hits Back

[ad_1]

BJP Vs TMC: बीजेपी ने तृणमूल कांग्रेस (TMC) खिलाफ हमले को तेज करते हुए रविवार (16 जुलाई) को दावा किया है कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार बस कुछ समय और टिकेगी. बीजेपी के दावे को खारिज करते हुए टीएमसी ने पलटवार किया है. टीएमसी की ओर से कहा गया है कि जन समर्थन प्राप्त सरकार के खिलाफ बयानबाजी कर बीजेपी नेता दिल्ली में केवल अपनी रेटिंग बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं. 

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, बीजेपी सांसद शांतनु ठाकुर ने अपने लोकसभा निर्वाचिन क्षेत्र बनगांव में आयोजित पार्टी के एक कार्यक्रम में कहा कि टीएमसी सरकार अब पांच महीने से ज्यादा नहीं टिकेगी. केंद्रीय बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग राज्य मंत्री शांतनु ठाकुर ने कहा, ”ममता बनर्जी सरकार की उपयोगिता खत्म हो गई है. अगर टीएमसी ने हाल ही में संपन्न हुए पंचायत चुनाव में बड़े पैमाने पर हेराफेरी का सहारा नहीं लिया होता तो बीजेपी हजारों अतिरिक्ट सीटें मिलतीं.”

बंगाल सरकार को लेकर बीजेपी नेता शांतनु ठाकुर का दावा

शांतनु ठाकुर ने कहा, ”यह (पंचायत चुनाव) टीएमसी सरकार की देखरेख वाला आखिरी चुनाव बनने जा रहा है, जहां राज्य चुनाव आयोग (SEC) समेत सभी राज्य मशीनरी तटस्थ और निष्पक्ष भूमिका निभाने में विफल रही हैं.” इसी के साथ शांतनु ठाकुर ने कहा, ”मेरा अनुमान है कि यह सरकार पांच महीने से ज्यादा नहीं चलेगी.”  

कभी भी कुछ भी हो सकता है- सुकांत मजूमदार

वहीं, पश्चिम बंगाल बीजेपी अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने मीडिया से कहा, ”किसी समय कुछ भी हो सकता है. देखते हैं क्या होता है.” मजूमदार ने कहा, ”किसे पता कि टीएमसी के कुशासन और डर के खिलाफ जन विद्रोह हो जाए. क्या पता कि टीएमसी विधायक अचानक ममता बनर्जी के कामकाज के तरीके का पालन करने से इनकार कर दें. मैं यह नहीं कह रहा हूं कि ऐसा होगा लेकिन राजनीति में कुछ भी संभव है.”

शुभेंदु अधिकारी कर चुके हैं केंद्र के दखल की मांग

वहीं, पश्चिम बंगाल में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने पंचायत चुनाव में हिंसा के मद्देनजर राज्य में अनुच्छेद 355 लागू करने की मांग करते हुए पहले कहा था कि राज्य में केंद्रीय हस्तक्षेप जरूरी हो गया है. अधिकारी ने कहा था कि हालांकि लोकतांत्रिक रूप से चुनी गई सरकार को गिराया नहीं जा सकता है लेकिन अगर वह संविधान के अनुसार अपना कर्तव्य निभाने में विफल रहती है तो उसे अराजकता में जाने से बचाने के लिए केंद्र को दखल देना होगा.

बीजेपी नेताओं के बयानों पर टीएमसी का पलटवार

बीजेपी नेताओं के बयानों पर प्रतिक्रिया देते हुए टीएमसी के राज्यसभा सांसद और प्रवक्ता शांतनु सेन ने कहा, ”सुभेंदु अधिकारी समेत ये सभी बीजेपी नेता उस सरकार के खिलाफ बयानबाजी करके दिल्ली में अपनी रेटिंग बढ़ाने के लिए बेताब हैं जो दो साल पहले भारी जनादेश के साथ तीसरी बार सत्ता में आई और जिसे बड़े पैमाने पर जन समर्थन प्राप्त है.”

यह भी पढ़ें- कौन होगा विपक्षी एकता का संयोजक, क्या UPA ही कहलाएगा गठबंधन? जानें विपक्ष की बैठक में किन मुद्दों पर होगी बात

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here