Home Blog व्यापारियों-अधिकारियों को झूठे केस में फंसाकर करती थी अवैध वसूली, गैंग की लेडी डॉन रानी को पुलिस ने दबोचा

व्यापारियों-अधिकारियों को झूठे केस में फंसाकर करती थी अवैध वसूली, गैंग की लेडी डॉन रानी को पुलिस ने दबोचा

0
व्यापारियों-अधिकारियों को झूठे केस में फंसाकर करती थी अवैध वसूली, गैंग की लेडी डॉन रानी को पुलिस ने दबोचा

[ad_1]

हाइलाइट्स

कौशांबी की लेडी डॉन रानी पर पुलिस का बड़ा एक्शन, गैंग लीडर समेत तीन गिरफ्तार.
बड़े व्यापारी और अधिकारी को झूठे मुकदमे में फंसा लेडी डॉन करती थी अवैध वसूली.
लेडी डॉन का वीडियो सामने आने के बाद लगा गैंगस्टर एक्ट, कुर्की की होगी कार्रवाई.

कौशांबी. उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले में पुलिस ने एक ऐसे लेडी गैंग का खुलासा किया है जो बड़े-बड़े व्यापारियों को पहले झूठे मुकदमे में फंसाती थी, फिर उन्हें डरा धमका कर उनसे मोटी रकम की अवैध वसूली करती थी. इस लेडी गैंग के निशाने पर न सिर्फ जिले का व्यापारी वर्ग था, बल्कि एक आईपीएस अधिकारी पर भी छेड़खानी का झूठा आरोप लगाकर अवैध वसूली की कोशिश कर चुकी है. जब पुलिस ने इस मामले में अपना जांच का दायरा बढ़ाया तो लेडी डॉन रानी का एक वीडियो क्लिप पुलिस के हाथ लगा, जिसमें लेडी डॉन एक आईपीएस अधिकारी पर छेड़खानी का झूठा आरोप लगाकर उनसे अवैध वसूली करने की बात कह रही है. अब पुलिस ने शातिर गैंग की लीडर रानी और उसके दो गुर्गे शंकर लाल और मिथुन कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

यूपी पुलिस अब लेडी डॉन व उसके गुर्गों पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए अपराध से अर्जित की गई उसकी तमाम संपत्ति को चिन्हित कर अब कुर्की की कार्रवाई में जुटी गई है. बता दें यह लेडी डॉन करारी थाना क्षेत्र के सचवारा गांव की रहने वाली है. इस गैंग में चित्रकूट जिले के भी कई सक्रिय सदस्य जुड़े हैं.

एडिशनल एसपी समर बहादुर सिंह ने बताया कि कौशांबी जिले में एक गैंग काफी दिनों से सक्रिय था. यह गैंग ग्रामवासियों को, क्षेत्रवासियों  और स्वर्ण व्यवसायियों को लगातार परेशान कर रहा था. उनसे  लगातार अवैध वसूली कर रहा था. उन्हें झूठे मुकदमे में फांसने की धमकी देकर कभी अपना बच्चा गायब कर झूठी किडनैपिंग की रिपोर्ट दर्ज कराकर अवैध वसूली कर रहा था. इस गैंग की सरगना महिला रानी देवी है. गैंग लीडर रानी के साथ अन्य सदस्य मिलकर क्षेत्र में आतंक फैलाते थे.

गैंग लीडर रानी देवी की थी दहशत
बता दें कि इसको लेकर एक मुकदमा पंजीकृत किया गया था, जिसमें रानी देवी ने अपने नाबालिग बेटे को खुद ही गायब करके कई लोगों को फंसाया. फिर उन सभी से अवैध वसूली किया. गैंग की लीडर रानी देवी की इलाके में दहशत कुछ इतनी थी कि अगर वह दिन में शराब पीकर मार्केट में चली जाती थी तो सर्राफा व्यापारी दुकान छोड़कर अपनी भाग जाते थे, जिससे वह दुकानों में घुसकर जबरन समान और पैसा लूट लेती थी. कोई भी व्यापारी मुकदमा लिखाने की हिम्मत तक नहीं जुटा पाता था.

घिनौने आरोप लगाकर अवैध वसूली
एएसपी के मुताबिक, व्यापारियों को ऐसा लगता था कि अगर वह इस महिला पर मुकदमा दर्ज कराएंगे तो वह उनपर झूठे और घिनौने आरोप लगाकर और परेशान करेगी. गैंग लीडर रानी देवी पर इस तरह के तीन अलग-अलग मुकदमे दर्ज किए गए हैं. इन पर गैंगस्टर एक्ट के तहत भी कार्रवाई की गई है. अपराध से अर्जित की गई इनकी संपत्ति की जांच भी कराई जा रही है. जांच के बाद इस गैंग की संपत्ति जब्त कर आगे की कार्रवाई की जाएगी. इस गैंग से जुड़े अन्य सदस्य जो अभी फरार हैं, जल्द उन्हें भी गिरफ्तार कर जेल भेजेंगे.

हाईकोर्ट तक रहती थी गैंग की तैयारी
एएसपी ने कहा कि लेडी डॉन रानी ने एक पुलिस के उच्चाधिकारी पर भी छेड़खानी का झूठा आरोप लगाकर अवैध वसूली करने का प्रयास कर चुकी है. हालांकि, मामले में जांच के बाद इसका आरोप एकदम निराधार पाया गया. इसका एक वीडियो भी वायरल हुआ है, जिसमें वह खुद ही कह रही है कि बड़े सर्राफा व्यापारी और अधिकारी को वह फंसाकर अवैध वसूली करती है. ऐसे झूठे मामलों में वह दबाव बनाने के लिए हाईकोर्ट तक जाने की अपनी तैयारी बना रखी थी, ताकि वो डरा धमकाकर अवैध वसूली कर सके, लेकिन पुलिस ने इस पूरे गैंग का खुलासा करते हुए कड़ी कार्रवाई की है.

Tags: Kaushambi crime news, Kaushambi news, Kaushambi Police, Up crime news, Uttar pradesh crime news

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here