Home Blog प्‍यार, शादी और मोमोज… नेपाली युवक की रांची की लड़की से फेसबुक पर दोस्‍ती, अब दोनों बेच रहे टेस्टी ‘मोमो’

प्‍यार, शादी और मोमोज… नेपाली युवक की रांची की लड़की से फेसबुक पर दोस्‍ती, अब दोनों बेच रहे टेस्टी ‘मोमो’

0
प्‍यार, शादी और मोमोज… नेपाली युवक की रांची की लड़की से फेसबुक पर दोस्‍ती, अब दोनों बेच रहे टेस्टी ‘मोमो’

[ad_1]

शिखा श्रेया/रांची. आपने मोमोज तो बहुत खाए होंगे, लेकिन आज हम आपको मूंगफली चटनी के साथ परोसे जाने वाली मोमो (मोमोज) के बारे में बताने वाले हैं. इस तरह के मोमोज झारखंड की राजधानी रांची के धुर्वा सेक्टर 2 में मिलते हैं. इस मोमोज को खाने के लिए लोगों की लाइन लगी रहती है. यह मोमोज एक कपल बेचता है, जिनका नाम विकास और काजल है. इनके मोमोज इतने टेस्टी होते हैं कि महज 2 घंटे के भीतर ही 500 से अधिक प्लेट बिक जाती हैं. इसके साथ विकास और काजल की लव स्‍टोरी भी जानने को मिलेगी.

विकास ने लोकल 18 को बताया हम शाम के 5 बजे से सिर्फ 7 बजे तक ही मोमो का स्टॉल लगाते हैं. इन 2 घंटे के अंदर ही हमारे सारे मोमोज बिक जाते हैं. हमारे पास वेज व नॉनवेज दोनों तरह के मोमो उपब्ध है. वेज तो 1 घंटे के अंदर ही बिक जाते हैं. साथ ही बताया कि मैं खुद नेपाल का हूं, इसलिए वहां का ऑथेंटिक टेस्ट आपको इस मोमो में मिलेगा.

मोमो की क्वालिटी पर अधिक जोर
विकास ने बताया कि मोमो बनाते समय मैदे की क्वालिटी पर अधिक जोर दिया जाता है. खासकर कई बार लोग सस्ते मैदे का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन हम हाई क्वालिटी मैदे का इस्तेमाल करते हैं. हाई क्वालिटी मैदे से मोमोज बनने के बाद एक अलग सी मोमो में चमक आती है. साथ ही खाने के बाद स्वाद के साथ पेट खराब होने जैसी स्थिति नहीं बनती. इसके साथ उन्होंने बताया कि मोमो के स्टफिंग को भी काफी ऑथेंटिक तरीके से बनाया जाता है. हम स्टफिंग को फ्राई नहीं करते और ना ही तेल का इस्तेमाल करते हैं बल्कि बिल्कुल कच्चा स्टफिंग होती है. इसमें पत्ता गोभी, प्याज, गाजर व नमक का इस्तेमाल होता है. इसके अलावा हम कुछ और इस्तेमाल नहीं करते. जब मोमोज स्टीम होता है तो उसी की भाप से अंदर के स्टफिंग भी पक जाते हैं.

मूंगफली की चटनी है खास
आप पूरी रांची में कहीं भी मोमो खा लीजिए आपको मूंगफली की चटनी नहीं मिलेगी. यह सिर्फ इन्हीं के स्टॉल पर मिलती है. विकास बताते हैं यह मूंगफली की चटनी खासकर बच्चों को ध्यान में रखकर बनाई जाती है. ताकि जो बच्चे लाल मिर्च वाली तीखी चटनी नहीं खा सकते पर मूंगफली की चटनी के साथ मोमो आसानी से खा ले.चटनी मूंगफली को फ्राई कर फिर उसे अदरक, लहसुन व एक दो खड़े मसाले और नमक के साथ पीस कर बनाया जाता हैं.

इन दोनों की लव स्टोरी भी फिल्मी कहानी से कम नहीं
भले ही यह दोनों आज मोमोज का स्टॉल लगाकर अच्छी खासी कमाई कर रहे हों, लेकिन इन दोनों की लव स्टोरी भी किसी फिल्मी स्टोरी से कम नहीं है. विकास ने बताया कि फेसबुक के जरिए हम दोनों की दोस्ती हुई. फिर यह दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में बदल गई. बता दें कि विकास नेपाल में रहते थे, तो काजल रांची के डोरंडी में. विकास के मुताबिक, बातों ही बातों में काजल ने मजाक में विकास से डोरंडा आने के लिए कह दिया. विकास भी नेपाल से सीधा काजल से मिले डोरंडा पहुंच गया. यह देख काजल काफी इंप्रेस हुई और विकास ने काजल को भगाकर नेपाल के पशुपतिनाथ मंदिर में जाकर सीधे शादी कर ली. हालांकि शादी के 1 महीने बाद ही दोनों के घरवालों ने इस शादी को रजामंदी के साथ अपना आशीर्वाद दे दिया.

अगर आप भी इन कपल के मोमोज का स्वाद मूंगफली चटनी के साथ लेना चाहते हैं, तो आ जाइए रांची के धुर्वा सेक्टर 2 स्थित राजेंद्र भवन के ठीक सामने. जहां आपको यह स्टॉल मिल जाएगा. आप चाहें तो इस नंबर पर 77228 08303 संपर्क कर अधिक जानकारी ले सकते हैं.

Tags: Food, Food 18, India Nepal Relation, Love Story

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here