Home Blog गर्भवती हुई और कराया गर्भपात, मां ने थाने में की शिकायत, कोर्ट ने सुनाई आजीवन कारावास की सजा –

गर्भवती हुई और कराया गर्भपात, मां ने थाने में की शिकायत, कोर्ट ने सुनाई आजीवन कारावास की सजा –

0
गर्भवती हुई और कराया गर्भपात, मां ने थाने में की शिकायत, कोर्ट ने सुनाई आजीवन कारावास की सजा –

[ad_1]

दंतेवाड़ाएक घंटे पहले

  • लिंक कॉपी करें
डमी फोटो- दैनिक भास्कर

नकली फोटो

छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में एक पिता ने अपनी नाबालिग बेटी को अपनी हवस का शिकार बना लिया. उसने 13 साल की लड़की से बार-बार बलात्कार किया। जब वह गर्भवती हो गई तो इंजेक्शन और गोलियों से उसका गर्भपात करा दिया गया। हालांकि, आरोपी की पत्नी और नाबालिग की मां ने इसकी जानकारी पुलिस को दे दी. मामला कोर्ट तक पहुंच गया. वहीं दंतेवाड़ा फास्ट ट्रैक कोर्ट के एडीजे शैलेश शर्मा की अदालत ने आरोपी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है.

दरअसल ये पूरा मामला बीजापुर जिले का है. यहां 13 साल की एक मासूम लड़की अपने परिजनों से दूर हॉस्टल में रहकर पढ़ाई कर रही थी. छात्रा की मां ने कहा कि उनके पति पांडु भोगामी (46) कुछ महीने पहले उनकी बेटी को हॉस्टल से घर लाए थे। यहां वह उसे धमकी देकर जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाने लगा। ऐसा कई दिनों तक चलता रहा.

इसी बीच छात्रा गर्भवती हो गयी. जब आरोपी को इस बात का पता चला तो उसने उसे इंजेक्शन लगाया और दवा खिलाकर गर्भपात करा दिया। पीड़िता ने इसकी जानकारी अपनी मां और दादा को दी. जब इस बात की जानकारी मासूम बच्ची की मां और दादा को हुई तो वे अपनी बेटी को न्याय दिलाने के लिए सीधे पुलिस के पास पहुंचे और मामला दर्ज कराया.

पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच की और आरोपी पिता पांडू को गिरफ्तार कर लिया. मामला दंतेवाड़ा के फास्ट ट्रैक कोर्ट में पहुंचा. इधर, एडीजे शैलेश शर्मा की अदालत ने आरोपी पांडु भोगामी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है.

8 लोग नहीं घटित कथन

13 साल की मासूम बच्ची को न्याय दिलाने के लिए मां खुद अपने पति के सामने खड़ी हो गई। लोगों ने भी उनका समर्थन किया. जिसमें 8 गवाहों के बयान लिए गए. तमाम सबूतों और गवाहों को सुनने के बाद कोर्ट ने आरोपी को दोषी करार देते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई.

Source link

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here