Home Blog कहा- खालिस्तानी आतंकी की एंट्री पर बैन लगे, उसकी धमकियों का बच्चों पर गलत असर –

कहा- खालिस्तानी आतंकी की एंट्री पर बैन लगे, उसकी धमकियों का बच्चों पर गलत असर –

0
कहा- खालिस्तानी आतंकी की एंट्री पर बैन लगे, उसकी धमकियों का बच्चों पर गलत असर –

[ad_1]

9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

खालिस्तानी आतंकी पन्नू ने कुछ दिन पहले वीडियो जारी कर हिंदुओं को कनाडा छोड़कर अपने देश भारत लौटने के लिए कहा था।

कनाडा में रह रहे खालिस्तानी आतंकी और सिख फॉर जस्टिस (SFJ) संगठन के प्रमुख गुरुपतवंत सिंह पन्नू के खिलाफ हिन्दू फोरम कनाडा ने कानूनी कार्रवाई की मांग की है। फोरम के वकील पीटर थॉर्निंग ने कनाडा के इमिग्रेशन मिनिस्टर मार्क मिलर से पन्नू की एंट्री पर बैन लगाने की अपील की है।

थॉर्निंग ने अपने खत में बताया कि पन्नू की धमकियों की वजह से न केवल हिन्दुओं को बल्कि बहुत सारे कनाडाई समुदाय के लोगों में भी डर का माहौल है। इसके बाद उन्होंने पन्नू पर हिन्दुओं के खिलाफ नफरत फैलाने के आरोप में कार्रवाई करने और उसके कनाडा आने पर बैन लगाने की मांग की।

थॉर्निंग ने अपने लेटर में आगे लिखा है कि कनाडा को किसी भी खास समुदाय के खिलाफ हिंसा भड़काने की कोशिशों को स्वीकार न करते हुए सख्त एक्शन लेना चाहिए। खत में हिन्दू फोरम ने बताया है कि कैसे पन्नू के वीडियो का गलत असर न केवल बड़े लोगों पर बल्कि स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले बच्चों पर भी पड़ रहा है।

तस्वीर सिख फॉर जस्टिस संगठन के प्रमुख और खालिस्तानी आतंकी गुरुपतवंत सिंह पन्नू की है। इसके संगठन पर भारत में बैन लगा हुआ है।

तस्वीर सिख फॉर जस्टिस संगठन के प्रमुख और खालिस्तानी आतंकी गुरुपतवंत सिंह पन्नू की है। इसके संगठन पर भारत में बैन लगा हुआ है।

वीडियो बनाते वक्त पन्नू कनाडा में था या नहीं, इसकी जांच हो
थॉर्निंग ने कहा है कि इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए ये जरूरी है कि कनाडा ऐसे भाषणों को नजरअंदाज न करे। फोरम ने ये भी कहा है कि अगर वीडियो बनाते वक्त पन्नू कनाडा में ही था तो उस पर हिंसा भड़काने की कोशिश करने के आरोप में पूछताछ और सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।

थॉर्निंग ने बताया कि पन्नू और उसके सहयोगी सोशल मीडिया पर लगातार एक वीडियो शेयर कर रहे हैं, जिसमें सभी हिन्दुओं को कनाडा छोड़कर भारत जाने के लिए कहा जा रहा है। पन्नू ने हिन्दू समुदाय के लोगों पर आरोप लगाया है कि वो उसी देश के खिलाफ काम कर रहे हैं, जहां रहकर उनका गुजारा होता है।

पन्नू ने वीडियो में हिन्दुओं से कनाडा छोड़ने को कहा था
दरअसल, करीब एक हफ्ते पहले पन्नू ने वीडियो जारी करके भारतीय मूल के हिंदुओं को कनाडा छोड़कर वापस जाने की धमकी दी थी। वीडियो में उसने कहा था कि हिंदुओं का देश भारत है और वे कनाडा को छोड़कर इंडिया लौट जाएं। कनाडा में वही सिख रहेंगे, जो खालिस्तान समर्थक हैं। पन्नू ने ये भी कहा था कि खालिस्तान समर्थक सिख हमेशा कनाडा के लिए वफादार रहे हैं और देश के कानूनों और संविधान का पालन करते हैं।

वीडियो वायरल होने के बाद कनाडा के रक्षा मंत्री डोमिनिक लोबलांक ने आतंकी पन्नू को नसीहत दी थी। उन्होंने कहा था- कनाडा में नफरत फैलाने वालों के लिए कोई जगह नहीं है। सभी कनाडाई देश में सुरक्षित महसूस करने के हकदार हैं। हिंदू कैनेडियन को निशाना बनाने वाली वीडियो कैनेडियन सिद्धांतों के उलट है। हमले, नफरत, डराना या डर का माहौल पैदा करने वाली कार्रवाइयों की यहां कोई जगह नहीं है।

हिन्दू फोरम कनाडा ने मंगलवार को खत लिखकर पन्नू पर सख्त एक्शन लेने और कनाडा में उसकी एंट्री पर बैन लगाने की मांग की गई है।

हिन्दू फोरम कनाडा ने मंगलवार को खत लिखकर पन्नू पर सख्त एक्शन लेने और कनाडा में उसकी एंट्री पर बैन लगाने की मांग की गई है।

हिन्दू फोरम ने कहा- पन्नू भारत में घोषित आतंकी, उसका संगठन भी बैन
थॉर्निंग ने कनाडाई प्रशासन को भारत के साथ गहरे संबंधों की याद दिलाई, जो खालिस्तानी तत्वों के कारण राजनीति में फंस गए हैं। उन्होंने कहा कि पन्नू एक घोषित आतंकवादी है। उसका संगठन SFJ भारत में प्रतिबंधित है।

उन्होंने कहा कि कनाडा और भारत के बीच लंबे समय से द्विपक्षीय संबंध हैं, जो लोकतंत्र, मजबूत पारस्परिक संबंधों की साझा परंपराओं पर आधारित हैं। कनाडा वो देश है जहां बड़ी संख्या में भारतीय मूल के लोग रहते हैं। यहां लगभग 4% कनाडाई भारतीय विरासत के हैं।

gk 1695792647

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here