Home Blog इन्हें परमाणु हथियार रखने का अधिकार नहीं; अब ये यूक्रेन नहीं दुनिया की जंग –

इन्हें परमाणु हथियार रखने का अधिकार नहीं; अब ये यूक्रेन नहीं दुनिया की जंग –

0
इन्हें परमाणु हथियार रखने का अधिकार नहीं; अब ये यूक्रेन नहीं दुनिया की जंग –

[ad_1]

न्यूयॉर्क21 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

UN जनरल असेंबली में जंग पर सदस्य देशों को संबोधित करते यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की।

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की ने मंगलवार को UN जनरल असेंबली को संबोधित किया। उन्होंने कहा- ये जंग सिर्फ यूक्रेन नहीं बल्कि पूरी दुनिया की है। इसके लिए सभी देशों को मिलकर रूस के खिलाफ लड़ना होगा। रूस पूरी दुनिया को आखिरी जंग की तरफ धकेल रही है। हम इस बात की पूरी कोशिश कर रहे हैं कि रूस की इस जंग के बाद दुनिया में कोई भी देश किसी पर हमला न कर सके।

जेलेंस्की ने कहा- कोल्ड वॉर के बाद यूक्रेन नहीं रूस को अपने न्यूक्लियर वेपेन हटाने की जरूरत थी। उन जैसे आतंकवादियों को परमाणु हथियार रखने का कोई अधिकार नहीं होना चाहिए। रूस ने फूड, एनर्जी और बच्चों तक को जंग में यूक्रेन के खिलाफ हथियार के तौर पर इस्तेमाल किया है। यूक्रेनी राष्ट्रपति ने कहा- जब नफरत को एक राष्ट्र के खिलाफ हथियार बनाया जाता है, तो यह कभी नहीं रुकती।

फरवरी में यूक्रेन जंग शुरू होने के बाद जेलेंस्की ने पहली बार UN जनरल असेंबली को संबोधित किया।

फरवरी में यूक्रेन जंग शुरू होने के बाद जेलेंस्की ने पहली बार UN जनरल असेंबली को संबोधित किया।

UNSC की मीटिंग में पीस प्लान पेश करेंगे जेलेंस्की
रूस का मकसद यूक्रेन को अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था और नियमों के खिलाफ हथियार के तौर पर इस्तेमाल करना चाहता है। हमारा पीस प्लान सिर्फ यूक्रेन मे जंग रोकने के लिए बल्कि पूरी दुनिया की बेहतरी के लिए है। रूस लगातार परमाणु हमले की धमकी देता रहा है। वो भूल चुका है कि इसका पूरी दुनिया पर क्या असर होगा।

जेलेंस्की ने एक पीस समिट की घोषणा की। इसमें उन्होंने सभी वर्ल्ड लीडर्स से साथ आकर जंग रोकने की कोशिश करने की अपील की। जेलेंस्की ने कहा- मैं अपने पीस प्लान से जुड़ी डीटेल्स बुधवार को UNSC की मीटिंग में शेयर करूंगा।

हमारा पीस प्लान सिर्फ यूक्रेन मे जंग रोकने के लिए बल्कि पूरी दुनिया की बेहतरी के लिए है। रूस लगातार परमाणु हमले की धमकी देता रहा है। वो भूल चुका है कि इसका पूरी दुनिया पर क्या असर होगा।

जेलेंस्की बोले- रूस नरसंहार कर रहा
भाषण के दौरान जेलेंस्की ने रूस पर यूक्रेनी बच्चों को किडनैप करके नरसंहार करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा- वॉर क्राइम्स की सजा जरूर दी जानी चाहिए, विस्थापित हो चुके लोगों को घर आना चाहिए और जिन्होंने हमारी जमीन पर कब्जा कर रखा है, उन्हें अपने क्षेत्र लौट जाना चाहिए।

रूस हमारे फूड एक्सपोर्ट को रोकने की कोशिश कर रहा है। इसी वजह से अफ्रीका और कई दूसरे देशों में अनाज की कमी हो रही है। जेलेंस्की के मुताबिक, रूस तेल की सप्लाई के जरिए दूसरे देशों पर दबाव बनाना चाहता है। साथ ही वो यूक्रेन के एनर्जी इंफ्रास्ट्रक्चर को नुकसान पहुंचा रहे हैं।

ये तस्वीर 24 जून की है, जब प्रिगोजिन तख्तापलट की कोशिश के बाद रूस के रोस्तोव शहर से वापस लौट रहे थे।

ये तस्वीर 24 जून की है, जब प्रिगोजिन तख्तापलट की कोशिश के बाद रूस के रोस्तोव शहर से वापस लौट रहे थे।

पुतिन पर भरोसा नहीं कर सकते, प्रिगोजिन इसका सबूत
अपने भाषण में जेलेंस्की ने वैगनर चीफ प्रिगोजिन का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा- पुतिन और उनके वादों पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। अगर ऐसा नहीं है तो हमें प्रिगोजिन से इस बारे में पूछना चाहिए। वो इसका सबसे बड़ा उदाहरण हैं। बुराई पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।

पिछले साल फरवरी में रूस के साथ जंग शुरू होने के बाद जेलेंस्की ने पहली बार UN जनरल असेंबली को संबोधित किया। इस दौरान कई वर्ल्ड लीडर्स भी मौजूद रहे। जेलेंस्की के भाषण से पहले बाइडेन ने भी अपनी स्पीच में रूस-यूक्रेन जंग का जिक्र किया। बाइडेन ने जंग के लिए रूस को जिम्मेदार ठहराया।

बाइडेन बोले- जंग के लिए सिर्फ रूस जिम्मेदार, वही इसे रोक सकते
उन्होंने कहा- सिर्फ रूस ही इस जंग को रोक सकता है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने जंग खत्म होने तक यूक्रेन की पूरी मदद करने की प्रतिबद्धता जताई। बाइडेन ने कहा- अगर हम किसी एक को खुश करने के लिए UN के बुनियादी सिद्धांतों को छोड़ देंगे तो यहां मौजूद कोई भी सदस्य सुरक्षित महसूस नहीं कर पाएगा। अगर हम यूक्रेन का विभाजन होने देंगे तो किसी भी देश की स्वतंत्रता की रक्षा नहीं हो पाएगी।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here